PUDR | Peoples Union for Democratic Rights

People's union for democratic rights, PUDR
PUDR against of death penalty

PUDR| Peoples Union for Democratic Rights

पिछले 36 वर्षों से PUDR भारत में नागरिक स्वतंत्रता, हमारे लोकतांत्रिक अधिकारों और नागरिक अधिकारों के आंदोलनों को आवाज देने का और उन की रक्षा करने का कार्य कर रहा हैं।

PUDR यानी पीपुल्स यूनियन फाॅर डेमोक्रेटिक राइट्स यह संस्था दिल्ली में स्थित हैं।

यह संस्था पुरी तरह से दबाव मुक्त हो कर कार्य करती हैं। इस पर किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं होता। राजनीतिक दल तथा कोई भी संगठन इस पर दबाव नहीं बना सकता यह एक स्वतंत्र संस्था हैं।

स्थापना

अगर हम इस कि स्थापना  की बात करें तो पहले 1977 में PUCLDR (पीपुल्स यूनियन फाॅर सिविल लिबर्टी एवं डेमोक्रेटिक राइट्स) के रुप में किया गया था। इसी का एक भाग PUDR था।

कुछ समय बाद PUCLDR ने काम करना बंद कर दिया लेकिन इसे फिर से एक नए नाम और रूप के साथ शुरू किया गया और इस का नाम PUCL (पीपुल्स यूनियन फाॅर सिविल लिबर्टी) रख दिया गया।

वही दूसरी ओर PUDR ने अपना काम जारी रखा था और 1 फरवरी 1981 को इस की स्थापना की गई एक स्वतंत्र संस्था के रूप में और अपने अगल अस्तित्व के साथ।

PUDR व्यक्तियों के अधिकारों और उन हक के मांग संबंधित बहुत सारे कार्य करता है :-

* PUDR लोकतांत्रिक अधिकारों के उल्लंघन के मामलो को उठाता हैं।

* व्यक्ति के अधिकारों के मामलों को  देखता  हैं।

* सभाओं का आयोजन करता हैं।

* पत्रिका वितरित करता हैं।

* सार्वजनिक बैठकों का आयोजन करता हैं।

* यह अपनी मांगों को पूरा करने के लिए प्रदर्शन और धरना देते हैं।

* कानून लड़ाई को लड़ता हैं।

* लोगों के अधिकारों के हनन पर प्रकाश डालता हैं।

* PUDR कैदियों के ऊपर हो रहे अत्याचार के मामलो को उठाता हैं।

* कृषक अधिकारों कि मांग करता हैं।

* समाज में हो रहे लैंगिक भेदभाव को खत्म करने के लिए कार्य करता हैं।

* जाति के आधार पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाता हैं।

* सांप्रदायिक हिंसा की जांच करता हैं।

* अभिव्यक्ति की आजादी तथा संघ बनाने कि स्वतंत्रता कि वकालत करता हैं।

* PUDR मौत की सजा की निंदा करता हैं।

संगठन तथा सदस्य

* यह संगठन अपने दो सचिवों और एक कोषाध्यक्ष के साथ काम करता हैं। कुल सात सदस्य होते हैं इस मे।

* अन्य कार्यकारी सदस्य होते हैं।

* सदस्यों का चयन चुनाव के आधार पर किया जाता हैं।

* PUDR का सदस्य बनने के लिए उस के लिए काम करना होता हैं, और उस को समर्थन देना होता हैं।

खास

PUDR की सब से बड़ी और खास बात यह है कि यह किसी भी सरकारी गैर सरकारी संगठन या देश तथा विदेश किसी से भी अनुदान नहीं लेती हैं।

धन कि व्यवस्था सदस्यों द्वारा की जाती है और अपने पत्रिकाओं, सदस्य शुल्क के द्वारा पैसे जुटाए जाते हैं। इस के सदस्य काम करने के लिए कोई पैसा नहीं लेते।

Be the first to comment on "PUDR | Peoples Union for Democratic Rights"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*


%d bloggers like this: